जामुन खाकर होंठ नीले करना फिर नीलकंठ कहना; ये ही है सियासत का पुराना खेल

व्यंग्य: जामुनी नीलकंठ अवतार

Lalit Sauriya
ललित शौर्य

पिथौरागढ़। सत्ता का अमृतपान करते हुए कोई खुद को नीलकंठ कहे तो ये चैकाने वाला है। अनेकों नाटकों के बाद कर्नाटक में बनी सरकार के मुखिया खुद को नीलकंठ साबित करने की जिद्द कर रहे हैं। वो मंच से कहते नजर आ रहे हैं कि वो सत्ता का जहर गटक रहे हैं। जो सत्ता पाने के लिए जहर उगलते हों उनका सत्ता पाकर जहर गटकना कुछ अटपटा है।

जामुन खाकर होंठ नीले करना फिर खुद को नीलकंठ कहना ये सियासत का पुराना खेल है। उसी लीग पर कर्नाटकीय सी. एम. चल रहे हैं। वैसे भी सत्ता को जहर कहने वालों के साथ गठबंधन करने के बाद अमृत की इच्छा रखना बेईमानी होगी। सी.एम साहब का जहर पीने वाली बात को सुनकर पांचवीं क्लास का बच्चा भी ठहाके मार कर हँस रहा है। उसे भी पता है कि सत्ता में आने के बाद पीने को क्या मिलता है। सत्ता की कैपेचिनो पीकर नेताजी सल्फास के घोल की बात कर रहे हैं। उनका ये बयान सुनकर खुद नीलकंठ शिवशंकर भी अचरज में हैं , वो सोच रहें कि अगर सी. एम जहर पी रहे हैं तो वो क्या था जो उन्होंने समुद्र मंथन के समय पिया था। अगर प्रदेश के मुखिया ही जहर पियेंगे तो जनता के लिए इससे बत्तर पेय की खोज करना मुश्किल है। जहर के बाद क्या रह जाता है पीने को। अगर इसके बाद भी कुछ होगा तो जनता के हिस्से निश्चित रूप से वही आना है। सी.एम साहब का घड़ियाल के पड़ोसी की तरह आँसू बहाना घड़ियाल समुदाय के लिए किसी जोक से कम नहीँ है। आखिर बड़े प्रदेश के गठबंधनीय सी.एम के लिए जहर का कटोरा लेकर कौन आया।

उन्होंने इस जहर को फ्लिपकार्ट से मंगवाया या फिर गूगल से डावनलोड किया। ये चिन्तन और शोध का विषय है। इस बात पर बिहार के सी.एम भी ठोक के चिंतक कर रहे हैं । आखिर वो भी तो गठबंधनीय सी.एम हैं। अब वो कुछ भी तरल पदार्थ पीने से पहले एक्सपर्ट्स से जाँच करवा रहे हैं जो वो पी रहें हैं कहीं वो जहर तो नहीँ। क्योकिं वो कुछ महीने पहले ही जहर का क्वार्टर छोड़ के अमृत के बोतल की ओर लपके हैं।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply