निरंकार प्रभु से जुड़कर ही प्रशस्त होता है मुक्ति मार्ग: हरभजन सिंह कोहली

देहरादून। देश को तो आजादी मिल गई है परन्तु क्या हमारी आत्मा को भी आजादी प्राप्त हुई है? आत्मा को आजादी सिर्फ निरंकार प्रभु परमात्मा की जानकारी से ही मिल सकती है, जब मनुष्य की आत्मा निरंकार से जुड़ जाती हैं तो हमारे अन्दर के विकार भी स्वतः समाप्त हो जाते हैं। जैसे कि अभिमान, चाहे वो जाति-पाति का हो या पद का, अर्थात निरंकार प्रभु से जुड़कर हमें इन कमियों एवं विकारों से भी मुक्ति मिल जाती है। अतः ब्रह्मज्ञान पाकर जन-जन की आत्मा की मुक्ति का मार्ग प्रशस्थ हो सकता है।

बता दें कि उक्त विचार बीते दिन जहां सारा भारत देश स्वतंत्रता दिवस एवं रक्षा बंधन मना रहा था वहीं तत्वरूपी ईश्वर प्रेमियों के जीवन में संसारिक त्योहारों के हर्ष, उल्लास के साथ-साथ अध्यात्मिक त्योहार यानी कि मुक्ति पर्व की धूम थी। संत निरंकारी भवन हरिद्वार बाईपास रोड के तत्वावधान में आयोजित दिल्ली से पधारे हुए संत श्री हरभजन सिंह कोहली ने सद्गुरु माता सुदीक्षा सविंदर हरदेव जी महाराज का पावन आशीर्वाद देते हुए व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि आज का दिन निरंकारी जगह में मुक्ति पर्व के रूप में मनाया जाता है। दुनिया के लिए तो आज दो त्योहार है पर निरंकारी भक्तों के लिए आज के दिन तीन-तीन त्योहार है। जहाँ दुनिया ने आज देश को सदियों की पराधीनता से मुक्त कराने वाले सेनानियों को 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस एवं रक्षाबंदन के रूप में याद किया, वहीं निरंकारी भक्तों ने एक और त्योहार अपनी आत्मा की मुक्ति निरंकार प्रभु से जोड़ कर मनाया है।

उन्होंने कहा कि संत निंरकारी मिशन ने शहनशाह बाबा अवतार सिंह जी, जगत माता बुधवंती जी, राजमाता कुलवंत कौर जी, बाबा हरदेव सिंह जी एवं माता सविन्दर हरिदेव जी जैसे अनेक ऐसे श्रद्धालु भक्तों को श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने ब्रह्मज्ञान देकर जन-जन की आत्मा की मुक्ति का मार्ग प्रशस्थ किया। इस अवसर पर पूर्व अनेकों सन्तों-भक्तों ने गीतों, प्रवचनों द्वारा तमाम उन बलिदानियों को याद किया जिन्होंने मानवता के कल्याण के लिए इस मिशन को सीचा है। मंच संचालक भगवत प्रसाद जोशी जी ने किया।

– सुशील एवं जगत सिंह भण्डारी 

Sushil Kumar Josh

"उत्तराखण्ड जोश" एक न्यूज पोर्टल है जो अपने पाठकों को देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, फिल्मी, कहानी, कविता, व्यंग्य इत्यादि समाचार सोशल मीडिया के जरिये आप तक पहुंचाने का कार्य करता है। वहीं अन्य लोगों तक पहुंचाने या शेयर करने लिए आपका सहयोग चाहता है।

Leave a Reply