मशीनरी अलर्ट पर; 18 मई को पीएम मोदी उत्तराखंड में करेंगे बाबा केदार-बदरी के दर्शन

देहरादून। 18 मई को बाबा केदारनाथ और बदरीनाथ के दर्शन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आएंगे। पीएम के संभावित कार्यक्रम को देखते हुए मशीनरी अलर्ट हो गई है। मीडिया सूत्रों के मुताबिक मंगलवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी और एसपीजी के अधिकारियों ने केदारनाथ धाम पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि प्रधानमंत्री का कोई आधिकारिक कार्यक्रम अभी नहीं मिला है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि 18 मई को पीएम का कार्यक्रम लगभग तय है। केदारनाथ में बाबा केदार के दर्शन के बाद वह केदारपुरी में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा भी ले सकते हैं। केदारनाथ धाम के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगाध श्रद्धा है।

पिछली बार वह केदारनाथ के कपाट खुलने और बंद होने के अवसर पर मौजूद रहे थे। आपदा में तबाह हुई केदारपुरी का पुनर्निर्माण उनके ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार है। माना जा रहा था कि इस बार भी वह केदारनाथ के कपाट खुलने के अवसर पर आ सकते हैं, लेकिन चुनावी आपाधापी के चलते यह संभव नहीं हो पाया।

अब जबकि लोस चुनाव अंतिम चरण की ओर बढ़ चुके हैं तो वह केदारनाथ में दर्शन के लिए आ सकते हैं। बताया जा रहा है कि पीएम भगवान बदरीनाथ के दर्शन को भी जा सकते हैं।

मंगलवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह और पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी अचानक केदारनाथ पहुंचे। इसके अलावा एसपीजी के अधिकारियों के भी वहां पहुंचने की बात कही जा रही है। वहां सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर अधिकारियों ने चर्चा की।

सूत्रों की मानें तो बुधवार को वहां एसपीजी के अधिकारियों की मौजूदगी में बैठक संभावित है। इसके लिए एसपीजी के आइजी टी. नगनियाल, एआइजी जेपी शाही पहुंच सकते हैं। वहीं, रुद्रप्रयाग के एडीएम अरविंद पांडेय ने सुरक्षा और व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को बुधवार को केदारनाथ पहुंचने के निर्देश दिए हैं।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply