पनामा पेपर्स घोटाले में राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा दर्ज

झाबुआ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मंगलवार (30 अक्टूबर) को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चैहान ने कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज करा दिया। वह भी तब, जब राहुल ने उनका नाम कन्फ्यूजन (भ्रम) में आकर लेने के बाद अपनी गलती मान ली थी। कार्तिकेय के वकील एस श्रीवास्तव ने इस बारे में पत्रकारों को बताया, “कार्तिकेय ने राहुल के उस बयान को लेकर उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया है, जिसमें उन्होंने कहा था, ‘पनामा पेपर्स घोटाले में सीएम शिवराज के बेटे का नाम भी था’। कल की रैली में दिया यह आपत्तिजनक बयान उन्होंने आपराधिक इरादे से दिया था।”

वकील ने कहा, “कार्तिकेय और सीएम शिवराज का पनामा पेपर्स से कोई लेना-देना नहीं है। वह (कांग्रेस अध्यक्ष) जब उनकी लोकप्रियता प्रभावित नहीं कर सके, तो वे निजी हमले कर रहे हैं। वह उनके परिवार वालों को निशाना बना रहे हैं। वे लोग योजनाबद्ध तरीके से बयान देते हैं, क्योंकि सामान्य इंसान ने तो बयान सुना और अपनी धारणा बना ली।” वहीं, कार्तिकेय ने कहा, “राहुल ने एक और बयान दिया कि वह कन्फ्यूज थे। पर असल में पूरी कांग्रेस कन्फ्यूज है। राहुल तो भ्रम में हैं ही। मगर उनके पार्टी कार्यकर्ता भी कन्फ्यूज हैं कि आखिर पार्टी का नेता कौन है। नेता भी इस बात को लेकर भी कन्फ्यूज हैं कि किसे टिकट देना है। मैं इस चीज के लिए उन्हें (राहुल) जिम्मेदार नहीं ठहराऊंगा। पूरी कांग्रेस कन्फ्यूज है। उनके द्वारा लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं। यह बात वह भी स्वीकार चुके हैं। लेकिन उन्होंने सार्वजनिक मंच से मेरे परिवार और मेरे बारे में गलत बात कही, हम इस संबंध में कोर्ट में कानूनी मदद लेंगे।”

आपको बता दें कि सोमवार को सूबे के झाबुआ जिले में राहुल ने रैली में कहा था, “सीएम शिवराज के बेटे का नाम पनामा पेपर्स में था। फिर भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। यहां तक कि पाकिस्तान सरीखे देश ने भी पनामा विवाद में नाम सामने आने के बाद अपने पूर्व प्रधानमंत्री को सजा दी थी।” कांग्रेस अध्यक्ष के इस बयान पर शिवराज और कार्तिकेय ने उनकी निंदा कर झूठा आरोप लगाने का दावा किया था। सीएम ने जहां कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ मानहानि का केस ठोंकने की धमकी दी, वहीं उनके बेटे ने अल्टीमेटम देते हुए राहुल को 48 घंटे के भीतर माफी मांगने के लिए कहा था। राहुल इसके बाद ढीले पड़े और एक कार्यक्रम में उन्होंने अपनी गलती स्वीकारी। बोले, “इतने सारे स्कैम हो गए हैं कि मैं कन्फ्यूज हो गया था।”

राहुल की इस सफाई से जुड़ा एक वीडियो भी सामने आया है। बाद में शिवराज ने इसी बयान पर पलटवार करते हुए उन्हें परमानेंट कन्फ्यूज (पूरी तरह भ्रमित) बताया। वह बोले- मेरा बेटा राजनीति में नहीं है। उसके बाद भी राहुल रोज मुझ पर झूठे आरोप लगा देते हैं। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में 28 नंवबर को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है। ऐसे में राजनीतिक जानकारों का मानना है कि यह घटना सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के वोट बैंक पर असर डाल सकती है।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply