समस्याएं एवं सुझावों को सीधे मुख्यमंत्री के समक्ष रखने का उपाय : “Trivendra Singh Rawat” एप

देहरादून। उत्तराखण्ड की जनता अब अपने स्मार्टफोन के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से सीधे जुड़ सकती है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत गुड गवर्नेंस और जनता के साथ बेहतर संवा के लिए लगातार प्रयासरत हैं। सोशल मीडिया और तकनीक के जरिए मुख्यमंत्री जनसंवाद में सक्रिय हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को सचिवालय में मुख्यमंत्री ने Trivendra Singh Rawat एप लाॅन्च किया।

बता दें कि इस मोबाइल एप को एंण्ड्रायड मोबाइल फोन में Google Play Store  तथा आई फोन में एप्पल स्टोर में जाकर  Trivendra Singh Rawat टाइप करके डाउनलोड कर सकते है। इस एप के कंटेंट इग्ंिलश और हिन्दी दोनों ही भाषाओं में पढे़ जा सकते है। एप जनता से सीधा संवाद स्थापित करने, जन शिकायतों को सुनने और उनके त्वरित निस्तारण में मददगार साबित होगा। एप पर आने वाली जनशिकायतों का संज्ञान लेकर उनका त्वरित निस्तारण किया जायेगा। एप के माध्यम से देश के किसी भी कोने से सीधे मुख्यमंत्री से जुड़ा जा सकेगा।

शिकायतें और सुझाव सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय तक भेजी जा सकेगी। एप के जरिए समाधान पोर्टल पर भी शिकायतें और सुझाव दर्ज किए जा सकते है। एप के जरिए उत्तराखण्ड सरकार से संबंधित सभी खबरों को एक क्लिक से पढ़ या वीडियो देख सकते है। सरकार की योजनाओं की जानकारी, उनकी प्रगति और नए प्रयासों के बारे में एप से जानकारी मिल सकेगी। एप पर मा0 मुख्यमंत्री द्वारा किए गए ट्वीट देखे जा सकते हैं। एप पर सभी जिलों के जिलाधिकारियों व एसएसपी के फोन नंबर मौजूद हैं। जरूरत पड़ने पर जनता सीधे संबंधित अधिकारियों से संपर्क कर सकती है।

युवा वर्ग सीधे तौर पर एप के जरिए मुख्यमंत्री से जुड़ सकते है। मुख्यमंत्री के दैनिक भ्रमण और कार्यक्रमों की जानकारी भी एप पर उपलब्ध होगी। एप से अपने आसपास और क्षेत्र की किसी भी घटना या कार्यक्रम की सूचना सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजी जा सकती है। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि आशा है कि एप सरकार तथा जनता के बीच बेहतर संवाद स्थापित करने में सार्थक सिद्ध होगा।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply