भोले के भक्तों के रंग में रंगी धर्मनगरी, कांवड़ यात्रा में शामिल होने वाले सभी यात्रियों का उत्तराखण्ड में स्वागत -जानिए खबर

देहरादून(ब्यूरो)। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कांवड़ यात्रा के शुभारम्भ के अवसर पर यात्रा में शामिल होने वाले सभी यात्रियों का उत्तराखण्ड में स्वागत करते हुए उनकी सफल यात्रा की मंगलकामना की है।

बता दें कि मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कांवड़ यात्रा की सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित की गई हैं। यात्रा मार्गों की मरम्मत के साथ ही मार्गों के सौंदर्यीकरण पर भी ध्यान दिया गया है। पेयजल, स्वास्थ्य सुविधाओं का भी विकास किया गया है। कांवड़ियों को प्रदेश में कोई कठिनाई न हो तथा उन्हें सभी आवश्यक सुविधायें उपलब्ध हो इसके निर्देश भी सभी सम्बन्धित अधिकारियों को दिये गये हैं।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान लक्ष्मण झूला पुल के विकल्प के रूप में रामझूला, आई.डी.पी.एल पुल तथा मोहन चट्टी का डवल लेन पुल का उपयोग कांवड यात्रियों द्वारा किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में चारधाम मार्ग भी सुचारू रूप से संचालित हो रही है। मुख्य सड़कों के बन्द होने की दशा में उसके तुरन्त मरम्मत के भी निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं। प्रदेश में कांवड यात्रा के साथ ही चारधाम यात्रा पर आने वाले वाले तीर्थयात्रियों की सुविधा का ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं।

बता दें कि बुधवार से ही धर्मनगरी हरिद्वार आध्यात्म के रंग में रंग गई है। शासन प्रशासन की ओर से श्रावण मास कांवड़ मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। कांवड़ यात्री भी हरिद्वार पहुंचने लगे हैं। सुरक्षा के लिहाज से मेला क्षेत्र को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टरों में बांटा गया है। बता दें कि पुलिस, पीएसी और अर्धसैनिक बलों को मिलाकर करीब 10 हजार जवान मेला ड्यूटी में तैनात हैं।

ज्ञातव्य हो कि भगवान भोलेनाथ को प्रिय श्रावण मास का प्रमुख धार्मिक आयोजन कांवड़ मेला 17 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। करीब 12 दिन चलने वाले इस मेले में उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश से इस बार तीन करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं के पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है।

हरिद्वार पहुंचने वाले शिवभक्तों की टोलियां हरकी पैड़ी से गंगा जल लेकर भोले के जयकारों के साथ गंतव्यों को रवाना होंगी। पैदल कांवड़ियों के अलावा लाखों की संख्या में दोपहिया और चैपहिया वाहनों से डाक कांवड़ में भी शिवभक्त हरिद्वार से गंगा जल लेकर जाएंगे।

निर्धारित समय अवधि में शिवालयों तक पहुंचने के लिए गंगा जल लेकर दौड़ते कांवड़िए मेले का आकर्षण रहेंगे। 30 जुलाई को महाशिवरात्रि पर शिवालयों में गंगा जल से भगवान आशुतोष का अभिषेक होने के साथ ही कांवड़ मेले का समापन हो जाएगा।

वहीं प्रदेश के डीजी लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार, आइजी गढ़वाल अजय रौतेला और एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने सोमवार को मेला ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मियों को ब्रीफ किया। वहीं मंगलवार से ड्यूटी प्वाइंटों पर पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply