मोदी सरकार को हमले के बाद पाकिस्तान के साथ क्या करना चाहिए? शेयर और कमेंट करें

पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत का बदला देश मांग रहा है और देश के कोने-कोने से पाकिस्तान से इंतकाम लेने की आवाजें उठ रही हैं। ऐसे में हम आपको मौका दे रहे हैं इस मुद्दे पर अपनी राय बताने का। कमेंट और शेयर करके हमें अपनी राय बताएं।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में भारतीय जवानों पर अब तक का यह सबसे बड़ा आतंकी हमला हुआ था। जिसमें जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवंतीपोरा के पास गोरीपोरा में हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। वहीं लगभग दो दर्जन जवान जख्मी हुए थे।

इस सारा देश इसे कायरता एवं निन्दनीय घटना का रूप दे रहे है। वहीं जवानों शहादत पर पूरा देश ही क्या आसमान भी रो पड़ा है। हमेशा याद रहेगी उनकी शहादत जो हंस-हंस कर कुर्वान हो गये।

हमले को पाकिस्तान से संचालित जैश ए मुहम्मद के आत्मघाती दस्ते अफजल गुरु स्क्वाड के स्थानीय आतंकी आदिल अहमद उर्फ वकास ने अंजाम दिया। उसने 320 किलो विस्फोटकों से लदी स्कॉर्पियो को सीआरपीएफ के काफिले में शामिल जवानों से भरी एक बस को टक्कर मारकर उड़ा दिया। काफिले में शामिल तीन अन्य वाहनों को भी भारी क्षति पहुंची है।

वहीं जम्मू से चले इस काफिले में 60 वाहन थे, जिनमें 2547 जवान थे। दोपहर करीब सवा तीन बजे जैसे ही काफिला जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर गोरीपोरा (अवंतीपोरा) के पास पहुंचा ही था कि तभी अचानक एक कार तेजी से काफिले में घुसी और आत्मघाती कार चालक ने सीआरपीएफ की 54वीं वाहिनी की बस को टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही धमाका हो गया। इससे बस के परखच्चे उड़ गए थे।

सैनिकों पर हमले के विरोध में प्रिंस चैक देहरादून में कैण्डल मार्च निकालकर लोगों ने नम आंखों से शहीदों को श्रद्धांजलि दी वहीं विरोध प्रदर्शन करते हुए भारत माता की जय के नारे लगाये गये।

Sushil Kumar Josh

‘उत्तराखण्ड जोश’ एक वेब पोर्टल है जो देश-विदेश, सरकारी, अर्धसरकारी, सामाजिक गतिविधियां, स्वस्थ्य, मनोरजंन, स्पोर्टस, कहानी, कविता एवं व्यंग्य संबंधी समाचार एवं घटनाओं को सोशल मीडिया द्वारा अपने सुधीपाठकों एवं समाज तक पहुंचाता है। वहीं अपने सुधीपाठकों से यह आशा करता है कि खबरों को शेयर एवं लाइक जरूर करें। हमें आपके सहयोग की अतिआवश्यकता है। धन्यवाद

Leave a Reply